Tuesday, July 27, 2010

येही कांग्रेस का हाथ है भैया.... पता नहीं देश को कहाँ धकेलेगा....

आजादी के बाद से हमारे देश मैं कुछ सालों को छोड़ दिया जाये तो ज्यादातर समय कांग्रेस का ही शाशन रहा है...  हमारे देश ने क्या हासिल किया इन सालों मैं,. कांग्रेस का ज्यादातर समय तो देश पर किस तरह राज किया जाये , इसी बात को सोचने मैं बीता है,,, आज जब हर तरफ महंगाई की बात हो रही  है., आतंकवाद की बात हो रही है , तो कांग्रेस पार्टी और उसके नेता अपनी जिम्मेदारी निभाने के बजाये व्यर्थ के मुद्दे उछाल कर हमारा ध्यान खास मुद्दों से उठा रहे हैं...   

आज जब हर तरफ महंगाई का मुद्दा हावी है तो कांग्रेस पार्टी ने इसी समय को गुजरात के एक मंत्री को सी,बी. आई की गिरफ्त मैं जाने के लिए चुना  . ??  क्या यह एक संयोग है या कोई सोचा समझा प्लान??? ताकि जनता का ध्यान महंगाई के मोर्चे पर सरकार  की असफलता पर न जा सके . 

दूसरी बात आज जब हमारे देश मैं आतंकवादी घटनाएँ ऍम बात होती जा रही तब भी इन घटनाओ को रोकने के उपाए करने के बजे सरकार का ध्यान आतंकवाद को भी हिन्दू और मुसलमानों के हिसाब से बांटने पर है की यह तो मुस्लिम आतंकवाद थे या यह हिन्दू आतंकवादी थे.

कभी हमारा देश सिर्फ हिन्दू / मुस्लिम के नाम पर लड़ता था, आज हम मराठी, बिहारी या हिंदी , मराठी के नाम पर लड़ रहे हैं. भाषा , प्रान्त और तो और पानी तक के लिए लड़ रहे हैं इन बैटन पर तो हमारे प्रधान मंत्रो और सरकार का ध्यान जाता नहीं..  बल्कि वो तो सरकार की कमजोरी छुपाने के नए बहाने बनाने मैं व्यस्त है , नेता अपनी दुनिया मैं मस्त हैं... और ऍम आदमी त्रस्त है......  क्या होगा इस देश का ..   येही कांग्रेस का हाथ है भैया.... ..